कृषि विभाग द्वारा संचालित प्रसार सुधार आत्मा योजनान्तर्गत विकास खण्ड़ सि0 सिरोसी की गोष्ठी का आयोजन किया गया

Listen to this article

कृषि विभाग द्वारा संचालित प्रसार सुधार आत्मा योजनान्तर्गत विकास खण्ड़ सि0 सिरोसी की गोष्ठी का आयोजन किया गया

         

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार के प्रमुख संवाददाता
गिरीश त्रिपाठी

उन्नाव

कृषि विभाग द्वारा संचालित प्रसार सुधार आत्मा योजनान्तर्गत विकास खण्ड़ सि0 सिरोसी की गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में मुख्य अतिथि मा0 विधायक सदर/सभापति स्थानीय लेखा परीक्षा समिति श्री पंकज गुप्ता ने किसानों को सोलर पम्प स्वीकृत पत्र एवं महिला किसनों को मसूर/गेहूॅ बीज, साहित्य एवं कृषि यंत्र वितरित किये। मा0 विधायक जी ने किसानों को सम्बोधित करते हुये कहा कि सभी किसान मा0 प्रधानमंत्री जी ने सभी किसान भाइयों की आमदनी दुगनी करने के साथ-साथ उनका सम्मान बढ़ाने का भी कार्य किया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, फसल बीमा योजना, सोलर पम्प योजना, कृषि यंत्र एवं बीज वितरण जैसी अनेकों योजनों संचालित है, जिसका लाभ किसान भाइयों को मिल रहा है।
उन्होंने कृषकों को सम्बोन्धित करते हुये कहा कि सरकार ने कृषि विभाग के कर्मचारियों के माध्यम से समाज के अंतिम पंक्ति में बैठे हुये किसानों को भी मूलभूत सुविधायें पहुॅचाकर उन्हें लाभांवित किया है। नारी शक्ति योजना के अन्तर्गत महिल समूहों से गृह उपयोगी वस्तुओं को बनवाकर उसकी ब्राण्डिंग एवं पैकेजिंग कराकर मार्केटिंग की व्यवस्था सरकार ने की है। सरकार ने किसानों का कर्जा माफ किया है यदि हमें विश्व गुरू बनना है तो समाज के सभी वर्गों के लोगों का विशेष ध्यान देना होगा। सरकार इसी को लक्ष्य मानकर नयी-नयी योजनायें लागू कर रही है। कृषि विभाग द्वारा गोष्ठियों का आयोजन कर किसानों में जागरूकता फैलाकर सराहनीय कार्य किया जा रहा है। मा0 विधायक जी ने जनपद उन्नाव से शुरू किये गये कार्यक्रम पराली दो खाद लो को गौमाता, धरती माता, गंगा माता के लिये एवं पर्यावरण संरक्षण के लिये सराहनीय कार्य बताया। मा0 विधायक जी द्वारा श्रीमती सारिका देवी, श्रीमती लक्ष्मी, श्रीमती कौशल्या को मसूर बीज, श्री सूरजन सिंह, श्री धनंजय सिंह को गेहूॅ बीज, श्री रामेश्वर सिंह एवं श्री प्रकाश सिंह को सोलर पम्प, श्री महावीर एवं श्री अजीत को पावर चालित नैपसेक का वितरण किया।
कृषि विश्वविद्यालय कानपुर से आये वैज्ञानिकों डा0 महक सिंह एवं डा0 राजवीर सिंह ने कृषकों को सम्बोधित करते हुये बताया कि दलहनी एवं तिलहानी फसलों की भी लाइन से बुवाई करें तथा जैव उर्वरक माइको राजा, राइजोबियम कल्चर आदि का प्रयोग करें। फसलों की बुवाई समय से करें, जिससे फसलों में रोग कीट न लगे तथा फसल चक्र को जरूर अपनायें। उप कृषि निदेशक डा0 नन्द किशोर ने कृषकों को सम्बोधित करते हुये कहा कि किसान भाई पराली को किसी भी दशा में न जलायें अपने फसल अवशेष को वेस्ट डि कम्पोज का छिड़काव करके जैविक खाद बनाये। रसायनिक खादों का कम से कम प्रयोग करें। किसान भाई बीज भण्डारों से अनुदान पर बीज प्राप्त करें और लाइन से बुवाई करें। उन्होंने कृषकों से जैविक खेती अपनाने पर भी जोर दिया।
कार्यक्रम में जिला कृषि अधिकारी, उद्यान निरीक्षक, मत्स्य निरीक्षक, एन0एफ0एस0एम0 सलाहकार ने तकनीकी विषयों की जानकारी दी।

 

विज्ञापन बॉक्स