जिलाधिकारी ने दिये सभी केन्द्रों में नोडल अधिकारी की नियुक्ति करने के निर्देश:

जिलाधिकारी ने दिये सभी केन्द्रों में नोडल अधिकारी की नियुक्ति करने के निर्देश:

किसी भी स्थिति में किसानों की समस्या नहीं की जायेगी बर्दाश्त:

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार
प्रमुख संवादाता गिरीश त्रिपाठी

जिलाधिकारी ने दिये किसानों हेेतु समस्त सुविधायें मुहैया कराने के निर्देश:

उन्नाव।
आज सोमवार को जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित कार्यालय कक्ष में धान एवं मक्का खरीद हेतु कार्यशाला प्रशिक्षण बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा जिला खाद्य विपणन अधिकारी श्याम मिश्रा को समस्त केन्द्रों में एक नोडल अधिकारी नामित करने हेतु आदेशित किया साथ ही उन्होंने समस्त केन्द्र प्रभारियों को 20 अक्टूबर तक सारी तैयारियां सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जिससे कि किसान भाईयों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाये। उन्होंने कहा किसानों के साथ सम्मान पूर्वक बातचीत की जाये एवं समस्त केन्द्र प्रभारी यह सुुनिश्चित करें कि किसानों की हर सम्भव मदत की जाये जिससे की एक अच्छा वातावरण तैयार हो सके।
बैठक में जिला विपणन अधिकारी द्वारा बताया गया कि खरीफ विपणन वर्ष, 2021-22 कृषक भाई साईबर कैफे अथवा उचित माध्यम से पंजीकरण कराते समय महत्वपूर्ण बिन्दुओं का विशेषरूप से ध्यान रखें खरीफ विपणन वर्ष, 2021-22 के अन्तर्गत कृषकों को अपने धान का विक्रय करने हेतु खाद्य विभाग के पोर्टलwww.fcs.up.gov.in पर अपना पंजीकरण कराना अनिवार्य है। खरीफ विपणन वर्ष, 2021-22 में कृषक पंजीकरण प्रक्रिया आधार आॅथेंटिफिकेशन के माध्यम से होनी है, जिसमें पंजीकरण के समय कृषकों के आधार में दर्ज मोबाइल नम्बर पर एक ओ0टी0पी0 प्राप्त होगी, जिसका प्रयोग कर पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण होगी। कृषक भाई पंजीकरण कराते समय अपने आधार में पंजीकृत मोबाइल नम्बर को अवश्यक जाॅच लें।क्योंकि किसान पंजीकरण कराते समय मात्र 03 बार ही ओ0टी0पी0 24 घण्टे में आधार में लिंक मो0नं0 पर प्राप्त हो सकेगा। पंजीकरण कराने के उपरान्त कृषक अपना टोकन आॅनलाइन जनरेट करा कर अपनी सुविधानुसार अपने नजदीकी क्रय केन्द्र पर धान का विक्रय कर सकते हैं। ऐसे कृषक जिनके आधार में मोबाइल नम्बर दर्ज नही है या उनका मोबाइल नम्बर बदल चुका है, उनकी पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण न होने की दशा में उन्हे क्रय केन्द्रों पर अपना धान विक्रय करने में कठिनाई हो सकती है।
जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि कृषकों के आधार में मोबाइल नम्बर दर्ज करवाने या दर्ज मोबाइल नम्बर में सुधार हेतु प्रतीक गुप्ता, मोबाइल नम्बर- 8881110123, पता- इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स लि0 उन्नाव हेड पोस्ट आॅफिस, सिविल लाइन्स, रेलवे स्टेशन के पास, जनपद उन्नाव, पिन कोड-209801 से सम्पर्क कर सकते हैं। पंजीकरण कराते समय कृषक को अपना प्रतिनिधि नामित करना अनिवार्य है, जो उसका सगा-सम्बन्धी (पुत्री/पुत्र, पति/पत्नी, बेटा/दामाद) हो सकता है। सम्पूर्ण धान खरीद आॅनलाइन टोकन के आधार पर होगी। कृषक 15 दिवस पूर्व सुविधाजनक नजदीकी धान क्रय केन्द्र का आॅनलाइन टोकन प्राप्त कर सकते हैं।
खरीफ विपणन वर्ष, 2021-22 में इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आफ परचेज(ई-पाॅप) मशीन के माध्यम किसान के बायोमीट्रिक प्रमाणीकरण द्वारा खरीद की जायेगी। कृषक को अनिवार्य रूप से टोकन वाली तिथि को अपना धान क्रय केन्द्र पर सायं 4ः00 बजे तक लेकर जाना अनिवार्य है। यदि कृषक उस दिन केन्द्र पर नही पहुँच पाता है, तो उक्त तिथि का टोकन रद्द हो जायेगा। किसान को अपना धान विक्रय करने हेतु पुनः नया टोकन प्राप्त करना होगा, तभी धान की खरीद संभव हो पायेगी। धान के मूल्य का भुगतान पी0एफ0एम0एस0 पोर्टल के माध्यम से धान क्रय के 72.00 घण्टे के अन्दर किया जायेगा। किसान अपना बैंक खाता सी0बी0एस0 युक्त बैंक शाखा में खुलवायें एवं बैंक खाते को आधार से लिंक करवायें। धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य का भुगतान आधार से लिंक बैंक खाते में ही किया जायेगा। किसान बन्धु यह सुनिश्चित कर लें कि विक्रय के सापेक्ष धनराशि किसान के खाते में आॅनलाइन व्यवस्था द्वारा अन्तरित की जा सकती हो। खरीफ विपणन वर्ष, 2021-22 हेतु शासन द्वारा धान काॅमन का मूल्य रू0 1940.00 प्रति कु0 एवं ग्रेड ए का मूल्य रू0 1960.00 प्रति कु0 निर्धारित किया गया है। किसान भाई धान विक्रय के समय पंजीयन प्रपत्र के साथ आधार कार्ड एवं आधार में पंजीकृत मोबाइल नम्बर एवं खतौनी की छायाप्रति साथ लायें।

 

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close