मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी बोलीं- गोरखपुर पुलिस पर नहीं रहा भरोसा,नहीं दूंगी बयान

मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी बोलीं- गोरखपुर पुलिस पर नहीं रहा भरोसा,नहीं दूंगी बयान

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार
प्रमुख संवादाता गिरीश त्रिपाठी

मीनाक्षी ने मीडिया से कहा मुझे सीएम पर बहुत भरोसा है। वह बड़े भाई की तरह हैं।

गोरखपुर पुलिस साक्ष्य संकलन करने के बजाय सबूत मिटाना चाहती है।

कानपुर।
मुख्यमंत्री योगी ने एक बड़े भाई की तरह अच्छे निर्णय लिए हैं, लेकिन गोरखपुर के एडीजी गलत बयान देकर मेरी हिम्मत तोड़ रहे हैं। सीएम से अपील करती हूं कि पति को न्याय दिलाने के लिए जल्द से जल्द सीबीआई जांच शुरू कराएं। हत्याकांड के बाद गोरखपुर पुलिस और प्रशासन का जो रवैया रहा। इसे देखते हुए मैं उन पर विश्वास नहीं कर सकती। ये बात शुक्रवार को मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने कही।बर्रा निवासी मीनाक्षी ने बताया कि गोरखपुर के एसपी क्राइम ने शुक्रवार सुबह उन्हें फोन किया और कहा कि मनीष के दोनों साथियों प्रदीप व रिंकू के बयान दर्ज होने हैं। साथ ही उनके भी बयान लिए जाने हैं। इस पर मीनाक्षी ने एसपी से कहा कि जब केस ही कानपुर ट्रांसफर हो रहा है तो वहां बयान देने क्यों जाएंगी। उन्होंने गोरखपुर पुलिस को बयान देने से इनकार कर दिया।

पुलिस हत्या को बताना चाहती है हादसा

मीनाक्षी ने मीडिया कर्मियों से कहा कि मुझे सीएम पर बहुत भरोसा है। वह बड़े भाई की तरह हैं। उन्होंने जो निर्णय लिए बहुत अच्छे हैं, लेकिन धैर्य बनाए रखना थोड़ा मुश्किल होता है। गोरखपुर पुलिस साक्ष्य संकलन करने के बजाय सबूत मिटाना चाहती है। सोशल मीडिया के जरिये उन्हें पुलिस की कहानी का पता चला कि वारदात के वक्त उनके पति मनीष के पास कोई आईडी नहीं थी। पुलिस ने दबिश दी तो वह भागने लगे। जबकि होटल के कमरे में उनकी आईडी मिली थी। उन्होंने सीएम से अपील की कि दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तारी करें। इसके साथ ही अधिकारियों को बेतुके बयान देने से मना करें।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close