जिलाधिकारी ने की अधिकारियों के साथ गोवंश के संबंध में की बैठकऔर निर्देश दिए गोवंश केंद्रों में साफ-सफाई की रहे पर्याप्त व्यवस्था,संबंधित अधिकारी गो आश्रय स्थल का करें स्थलीय निरीक्षण,अच्छा कार्य न करने वाले पशु चिकित्सा अधिकारियों को जिलाधिकारी ने दी कठोर चेतावनी

जिलाधिकारी ने की अधिकारियों के साथ गोवंश के संबंध में की बैठकऔर निर्देश दिए गोवंश केंद्रों में साफ-सफाई की रहे पर्याप्त व्यवस्था,संबंधित अधिकारी गो आश्रय स्थल का करें स्थलीय निरीक्षण,अच्छा कार्य न करने वाले पशु चिकित्सा अधिकारियों को जिलाधिकारी ने दी कठोर चेतावनी

उन्नाव।

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार
प्रमुख संवादाता गिरीश त्रिपाठी

मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के क्रम में आज जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार ने विकास भवन सभागार में अस्थायी गौआश्रय स्थलों/कान्हा गौशाला/ब्रह्द गौ संरक्षण केंद्रों के संबंध में समस्त खंड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी व संबंधित नोडल अधिकारियों के साथ आवश्यक बैठक की।
जिलाधिकारी ने संबंधित को निर्देश दिए कि कोई भी गोवंश सड़कों पर नहीं घूमता दिखना चाहिये, गन्दगी में नहीं रहना चाहिए सभी गौशालाओं पर तिरपाल अवश्य लगा होना चाहिए। उन्होंने कहा बारिश की ठंड से अगर किसी पशु को हानि पहुंचती है तो संबंधित की उसमें जवाबदेही होगी।
जिलाधिकारी ने सम्बन्धितों के कार्यों से नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हें कड़ी चेतावनी दी कहा अगर पशु नहीं पकडे गये तो सम्बन्धितों को प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा सभी गो आश्रय स्थलों पर हिसाब किताब का रजिस्टर अवश्य मेंटेन किया जाए।
जिलाधिकारी ने कहा सड़कों पर शहरों में चैराहे पर कोई भी गोवंश नहीं दिखाई देना चाहिए जो गोवंश आसपास शहर के दिखाई दे रहे हैं इन्हें ब्रह्द गौ संरक्षण केंद्र में रखा जाए उन्होंने कहा गौ आश्रय स्थल पर बिना टैगिंग के कोई भी पशु नहीं जाना चाहिए सभी पशुओं की टैगिंग अवश्य हो जाए। कानपुर-लखनऊ हाइवे पर एक भी जानवर नही दिखना चाहिये। जिलाधिकारी ने कहा ठंड से बचाव गोवंश की प्रथम प्राथमिकता है और उन्होंने कहा पशुओं को अच्छे से अच्छा उपचार दिया जाए। जिलाधिकारी ने गौ संरक्षण केंद्रों पर अच्छा कार्य नही करने वाले डॉक्टर को कठोर चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा अगर एक हफ्ते में कार्य अच्छा नहीं होता है तो सम्बन्धित पर विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश देते हुए कहा कि गौ संरक्षण केंद्र के नोडल अधिकारी ,संबंधित पशु चिकित्सा अधिकारी खंड विकास अधिकारी निरीक्षण करें और जो व्यवस्था में कमी दिखे उसमें सुधार करें हरे चारे सूखे चारे खल चोकर, पानी साफ सफाई की व्यवस्था गौ आश्रय स्थलों पर अच्छी होनी चाहिए।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी दिव्यांशु पटेल, अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, सहित समस्त सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close