विवाहिता ने एसपी से की ससुरालीजनो के विरूद्ध शिकायत

विवाहिता ने एसपी से की ससुरालीजनो के विरूद्ध शिकायत

उन्नाव।

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार
प्रमुख संवादाता गिरीश त्रिपाठी

अचलगंज थाना क्षेत्र के बेथर गांव निवासी स्व० चंद्रिका प्रसाद की विवाहित बेटी ने पुलिस अधीक्षक को प्रेषित शिकायती पत्र में बताया कि मेरी बेवा मां ने सूरत मे रकम कमाई कर रहे शुभम शाहू पुत्र रामनरेश हाल मुकाम सम्भर खेडा मजरे देवारा थाना गंगाघाट के साथ बीते 18 जून 2018 को लाखों दान दहेज देकर मेरी शादी की थी। बेटी की खुशी के लिए मां ने अपनी हैसियत से ज्यादा दान दहेज दिया। शादी के कुछ दिनो के बाद ससुराली जन मुझे सूरत लिवा ले गए। वहां के हाव भाव तथा संदिग्ध आचरणों से मुझे जब शंका हुई तो जानकारी हुई कि जिस मकान में ससुरालीजन रहते हैं। वह किराये पर है कोई विशेष रोजगार भी नही है। मेरे पति शुभम सास व ननद रहती है। जहां अजनवी लोगों का आना जाना रहता है। प्रारम्भ में मैने इस ओर ध्यान नही दिया। लेकिन मेरे पति का मेरे साथ अजनवी ब्यवहार मुझे अच्छा नही लगता था। शादी के एक माह बाद मेरे पति शुभम ने कहा कि पत्नी का दर्जा पाना है तो अपनी मां से एक लाख दहेज लाकर दो। मां बेवा हैं और दहेज देने में असमर्थ है जब मैने यह बताया तो मेरे पति शुभम ने मारना पीटना शुरु कर दिया। सास और ननद भी गाली गलौज करने लगी। बेवा मां की माली हालत के कारण यह नर्क भोगने के अलावा मेरे पास कोई दूसरा रास्ता नही था। पांच महीने तक ससुराल मे दुखो को सहती रही। मेरे पति शुभम ने कहा कि यदि दहेज नही दिला सकती तो वह सब कुछ करना पडेगा जो मै अथवा मेरे पिता कहेंगे। इस बीच घर में रहते रहते तथा सास और ननद के संदिग्ध आचरण से मेरी समझ में आ गया था कि मेरे पति और ससुर मुझसे क्या कराना चाहते है। तब मैंने भाई को पत्र लिखा जो मुझे सूरत से उन्नाव लिवा लाया। तब से मै बेथर गांव में मां के पास रह रही हूं। कुछ दिनो पहले दो तीन बार पति और ससुर सूरत ले जाने के लिए घर आये। लेकिन जान और सम्मान दोनों के खतरे के कारण मै सूरत नही गयी। इसी दरम्यान 12 सितम्बर को मेरे दरवाजे सूरत से मेरे ससुर चार अन्य लोगों के साथ मेरे घर पहुंच मुझे जबरन ले जाने का प्रयास किया। बचने के लिए मैं घर के अन्दर चली गयी। जहां पीछा करते हुए घर में घुस आये, घर मे मै और मेरी मां थी। जहां मेरे साथ मार पीट किया। मेरे चीखने चिल्लाने पर सभी लोग मौके से भाग निकले। पीडित विवाहिता ने पुलिस अधीक्षक को घटना की लिखित तहरीर दे जान और सम्मान रक्षा की गुहार लगायी है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close