चोरी के माल के क्रेता तक न पहुंच सके पुलिस के हाथ,आठ चोरों का गिरोह चढा पुलिस के हत्थे,पुलिस विभाग व सत्ता के लिए सोने का अंडा देने वाली मुर्गी है चोरी का माल खरीदने वाला सेठ

चोरी के माल के क्रेता तक न पहुंच सके पुलिस के हाथ,आठ चोरों का गिरोह चढा पुलिस के हत्थे,पुलिस विभाग व सत्ता के लिए सोने का अंडा देने वाली मुर्गी है चोरी का माल खरीदने वाला सेठ

उन्नाव।

रिपोर्ट -आर पी एस समाचार
प्रमुख संवादाता गिरीश त्रिपाठी

उन्नाव कोतवाली पुलिस ने आठ चोरों के गिरोह को पकड़ा तो लेकिन हाथ से बड़ी सफलता फिसल गई और इन चोरों का माल खरीदने वाले सेठ तक पुलिस के हाथ पहुंचने से कांप गए। दयालखेड़ा गांव के लोगों की मानें तो इन चोरों को संरक्षण देने वाला और इनका माल खरीदने वाला सेठ पुलिस विभाग व सत्ता के लिए सोने का अंडा देने वाली मुर्गी है तभी अाज तक उस पर कार्यवाही नहीं हुई।
थाना कोतवाली उन्नाव पुलिस व स्वाट एवं सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा चोरों को पकड़ा गया और इन अभियुक्त गणों के पास से दो अदद देशी तमंचा 12 बोर व तीन अदद जिन्दा कारतूस 12 बोर, 39 सिल्ली एल्युमिनियम की वजनी लगभग 256.500 Kg, नकदी 52100/-रु0 व एक अदद टाटा एस लोडर नम्बर UP 35 AT 0667 बरामद किया गया।
थाना कोतवाली सदर पुलिस व स्वाट एवं सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर मगरवारा रेलवे स्टेशन के निकट खण्डहर के पास से चोरों के गैंग (8 अभियुक्तगण) को पकड़ा गया। गहनता से पूछताछ की गयी तो पकड़े गये अभियुक्तो ने बताया कि हम सभी लोग शहर व आस पास के विभिन्न स्थानों व शहरों में चोरियां करते हैं तथा मिले माल को बेंच कर जो भी पैसा मिलता है हम सब आपस में बाट लेते हैं और इसी से अपना जीवन यापन करते हैं ।गिरफ्तार अभियुक्तों में रंजीत उर्फ घसीटे पुत्र सुरेश रावत, बादल पुत्र छेदीलाल, आशीष रावत उर्फ जैनी उर्फ सोनू पुत्र अनिल कुमार, नीरज वर्मा पुत्र बाबूलाल वर्मा, शुभम् उर्फ लाला पुत्र चन्द्रशेखर निवासीगण दयालखेड़ा मगरवारा, आकाश गुप्ता पुत्र वेद नारायण गुप्ता नि0 मगरवारा, मो0 रईश पुत्र अब्दुल अजीज नि0 शंकर पुरवा व अंकित गुप्ता पुत्र महेश कुमार गुप्ता नि0 66/26 कछियाना मोहल्ला थाना हरबंश मोहाल जनपद कानपुर नगर शामिल है।ग्रामीणों में चर्चा रही कि चोरों का यह गिरोह काफी समय से आपराधिक गतिविधियों में लिप्त है। अब जब चोर धरे भी गए तो पुलिस ने उनके सेठ को अभयदान दे दिया।पकड़े गए अभियोक्तों को जेल भेज दिया गया है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close