चौकी को थाने में तब्दील कर इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल, व कांस्टेबल सहित 30 पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी

 

चौकी को थाने में तब्दील कर इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल, व कांस्टेबल सहित 30 पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी

 

 

बांगरमऊ उन्नाव

नवसृजित बेहटा मुजावर थाने के भवन निर्माण की धीमी गति एवं पुलिस कर्मियों के आवास निर्माण को लेकर दायर याचिका की सुनवाई उच्च न्यायालय खंडपीठ लखनऊ की डबल बेंच ने की। अदालत ने प्रदेश सरकार के अधिवक्ता को दो सप्ताह का समय देकर जवाब मांगा है कि आखिर थाना भवन निर्माण की गति इतनी धीमी क्यों और पुलिस कर्मियों के आवास हेतु अभी तक धनराशि क्यों नहीं जारी की गई है।
उच्च न्यायालय खंडपीठ लखनऊ के वरिष्ठ अधिवक्ता फारुक अहमद एडवोकेट ने बेहटा मुजावर चौकी को उच्चीकृत कर नया थाना बनाए जाने के लिए वर्ष 2014 में जनहित याचिका दाखिल की थी। नवंबर 2019 को अदालत ने प्रदेश सरकार को बेहटा मुजावर चौकी को उच्चीकृत कर नया थाना बनाए जाने का आदेश दिया था । नवंबर 2019 को प्रदेश सरकार ने चौकी को थाने में तब्दील कर इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबल, व कांस्टेबल सहित 30 पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी। ततपश्चात 15 प्रशिक्षु महिला व पुरुष पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई।
अब एडवोकेट श्री अहमद ने नवसृजित थाने के भवन निर्माण के जनवरी 2020 को जनहित याचिका दायर की । उच्च न्यायालय ने 17 जनवरी 2020 को सख्त रुख अपनाते हुए प्रदेश सरकार को आवश्यक कार्यवाही करने के आदेश दिए। जिसके अनुपालन में 29 जनवरी 2020 को प्रदेश सरकार ने शासनादेश जारी कर पुलिस थाने की बिल्डिंग के लिए 6 करोड़ 4 लाख 58 हजार की धनराशि स्वीकृत की । पहली किस्त के रूप में 3 करोड़ 2 लाख रुपए की धनराशि भी जारी कर दी गयी । थाने की बिल्डिंग का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। 27 अगस्त शुक्रवार को जनहित याचिका की सुनवाई कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश एम एन भंडारी व न्यायमूर्ति सुरेश कुमार गुप्ता की डबल बेंच ने की। सुनवाई के दौरान अधिवक्ता फारूक अहमद एडवोकेट ने कहा कि थाने के भवन का निर्माण काफी धीमी गति से चल रहा है । साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस कर्मियों के आवास हेतु प्रदेश सरकार ने अभी तक कोई भी धनराशि स्वीकृति नहीं की है। सुनवाई के उपरांत अदालत ने इस सम्बंध में सरकार के अधिवक्ता से 2 सप्ताह में जवाब मांगा है । अगली सुनवाई आगामी 13 सितंबर को होगी ।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आरपीएस समाचार के सन्धर्भ क्या कहना चाहते है

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close